Bihar Bal Sahayata Yojana 2021 for COVID-19 Orphans

बिहार सरकार ने COVID-19 के कारण अनाथ बच्चों के लिए एक नई बाल सहायता योजना 2021 शुरू की है। इस योजना में, राज्य सरकार। रुपये की मासिक वित्तीय सहायता प्रदान करेगा। 1500 कोरोनावायरस अनाथों को। ऐसे सभी बच्चे चाहे वह लड़का हो या लड़की, जिसने COVID-19 के कारण अपने माता-पिता में से किसी एक को खो दिया हो, को रुपये की सहायता दी जाएगी। 1500 प्रति माह।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली जनता दल (यूनाइटेड) (जेडीयू) सरकार के तहत नई बाल सहायता योजना या बाल सहायता योजना शुरू की गई है। इस लेख में हम आपको बाल सहायता योजना की पूरी जानकारी के बारे में बताएंगे।

बिहार बाल सहायता योजना 2021 – विवरण

मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना 2021 बिहार राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई है। COVID-19 अनाथ बच्चों को मासिक सहायता, मुफ्त शिक्षा प्रदान करने के लिए। अब आप मुख्यमंत्री बाल सहायता योजना के संबंध में मुख्यमंत्री द्वारा की गई घोषणा के बारे में जान सकेंगे।

सीएम ने उल्लेख किया “वैसे-बच्चियों की मृत्यु होने की स्थिति में, कम से कम एक की मृत्यु कोरोना से होगी, ‘बाल मदद योजना’ राज्य में होने तक 1500 रु0 प्रतिमाह होगी।” उन्होंने यह भी जोड़ा कि “जिन अनाथों-बच्चियों के संस्कार हैं, वे सभी सदस्य बालगृह में हैं। इस तरह अनाथ बच्चियों के कस्तूरबा गांधी बालिका में बच्चे के जन्म के बाद शुरू होते हैं”।

बिहार बाल सहायता योजना की मुख्य विशेषताएं

बिहार बाल सहायता योजना 2021 की महत्वपूर्ण विशेषताएं और मुख्य विशेषताएं इस प्रकार हैं: –

  • वे सभी बच्चे जिनके माता-पिता या माता-पिता दोनों में से किसी एक की मृत्यु COVID-19 के कारण हुई है, उन्हें रु। 1,500 प्रति माह।
  • यह राशि COVID-19 अनाथों को 18 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक दी जाएगी।
  • बिना अभिभावक के अनाथ यानि माता-पिता/देखभाल करने वालों को बाल गृह नहीं ले जाया जाएगा।
  • कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में प्राथमिकता के आधार पर कोविड अनाथ बालिकाओं का नामांकन किया जाएगा।

केंद्र सरकार के साथ-साथ हरियाणा, यूपी और दिल्ली के एनसीटी जैसे राज्यों ने भी उन बच्चों के लिए समान उपायों की घोषणा की है, जिन्होंने कोविड -19 के लिए एक माता-पिता को खो दिया था। हरियाणा और उत्तर प्रदेश ने कोरोनावायरस अनाथ बच्चों की देखभाल के लिए बाल सेवा योजना की घोषणा की।

COVID-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई

बिहार ने COVID-19 की उग्र लहर में कमी के संकेत दिए हैं। 30 मई 2021 तक, राज्य में कोरोनावायरस से संक्रमित होने वाले और इस बीमारी से मरने वालों की संख्या में उल्लेखनीय गिरावट देखी गई।

राज्य के स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, 48 नए लोगों की मौत के कारण मरने वालों की संख्या 5,052 तक पहुंच गई, जबकि 1,491 लोगों ने पिछले दिन से सकारात्मक परीक्षण किया, जिससे यह संख्या बढ़कर 7.04 लाख हो गई। बिहार में पिछले एक सप्ताह में 600 से अधिक COVID-19 मौतें हुई हैं। कई दिनों में, मृतकों की संख्या 100 के करीब थी, और कभी-कभी यह तीन अंकों के निशान को भी तोड़ देती थी।

बिहार सरकार की योजनाएं 2021बिहार सरकारी योजनाबिहार में लोकप्रिय योजनाएं:बिहार राशन कार्ड आवेदन फॉर्म पीडीएफ डाउनलोड वृद्धजन पेंशन योजनाबिहार मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना

लगभग 13 करोड़ की कुल आबादी वाले बिहार में 1.03 करोड़ से अधिक लोगों को टीका लगाया गया है।

स्रोत / संदर्भ लिंक: https://twitter.com/nitishkumar