Haryana Mukhya Mantri Kisan Khet Sadak Marg Yojana 2021 to Make Roads in Villages

हरियाणा सरकार। गांवों में सभी छोटे मार्ग को मजबूत करने के लिए मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना 2021 शुरू की है। इस योजना के तहत अगले 5 साल में चरणबद्ध तरीके से खडांजा की सभी सड़कों का निर्माण किया जाएगा। किसानों की भूमि को ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों से जोड़ा जाएगा जो उन्हें अपनी कृषि उपज बेचने के लिए एक बाजार प्रदान करेगा।

सीएम ने यह भी घोषणा की है कि किसानों की खेती योग्य भूमि का पंजीकरण, बोई गई फसल और खेती के क्षेत्र का विवरण देते हुए एक वर्ष में दो बार किया जाएगा। खेती योग्य भूमि के लिए यह 2 गुना पंजीकरण प्रक्रिया किसानों को उनकी फसल की बुवाई से लेकर उनकी कृषि उपज को बाजार में बेचने तक की सहायता करने वाली है। पीएम मोदी के 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के सपने को साकार करने के लिए यह एक बड़ा फैसला है।

मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना 2021

हरियाणा के सीएम ने ग्रामीण इंटर कनेक्टिविटी के लिए सड़कों को मजबूत करने के लिए इस मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना योजना की घोषणा की है। ग्रामीण विकास विभाग मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना के तहत कार्य कराएगा। योजना के प्रथम चरण के तहत प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र के गांवों में 3 व 4 करम के 25 किलोमीटर मार्ग का कार्य किया जाएगा। खडांजा से सभी सड़कें आगामी 5 वर्षों में चरणबद्ध तरीके से बनने जा रही हैं।

मुख्यमंत्री किसान खेत सड़क मार्ग योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की कृषि भूमि को सड़क नेटवर्क से जोड़ना है। इससे यह सुनिश्चित होगा कि किसानों की उपज को नए सड़क नेटवर्क के माध्यम से आसानी से बाजारों तक पहुंचाया जा सके। कृषि उपज के परिवहन की लागत कम होगी और किसानों को उनकी फसलों का बेहतर मूल्य मिलेगा। इसके अलावा, खेतों से बाजारों तक माल के समय पर परिवहन के कारण फसलों की बर्बादी कम हो जाएगी। इससे आम जनता को कृषि उपज सस्ती दरों पर मिल सकेगी और ताजी फसलों की गुणवत्ता भी बेहतर होगी।

किसानों की कृषि योग्य भूमि का पंजीकरण

राज्य सरकार। किसानों की कृषि योग्य भूमि का पंजीकरण 1 वर्ष में दो बार कराने का भी निर्णय लिया है। किसान ग्राम स्तर पर स्थापित सामान्य सेवा केंद्रों (सीएससी) में बोई गई फसल का नाम और खेती के तहत क्षेत्र जैसे विवरण दे सकते हैं। इस योजना से किसानों को खरीद, मुआवजा, बीमा और बैंक ऋण में मदद मिलेगी। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग भूमि के पंजीकरण की जांच करेगा और ग्राम पटवारी इसका सत्यापन करेगा।

किसानों की भूमि का पंजीकरण दोनों ही मामलों में किया जाएगा चाहे वह खेती की हो या गैर-खेती। हरियाणा एक कृषि प्रधान राज्य है जहां समाज के अन्य समूहों की तुलना में किसान की आय को बढ़ाने की जरूरत है। तो, राज्य सरकार। कम से कम एक करोड़ रुपये का लक्ष्य रखा है। फसल विविधीकरण और वैज्ञानिक और आधुनिक तकनीक के उपयोग से प्रति एकड़ 1 लाख की कमाई।

हरियाणा में फसल विविधीकरण पर ध्यान दें

सरकार किसानों के लिए वित्तीय प्रबंधन का एक तंत्र भी तैयार करेगा ताकि वे उत्पादकता बढ़ाने के लिए धन का उपयोग कर सकें। कृषि एक व्यवसाय है इसलिए किसानों के खर्च को कम करने और उनकी आय बढ़ाने के लिए प्रत्यक्ष विपणन की व्यवस्था होनी चाहिए। किसानों को पारंपरिक खेती से सब्जी, फल, फूल और औषधीय पौधों की ओर बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने की भी आवश्यकता है।

हरियाणा सरकार की योजनाएं 2021हरियाणा सरकारी योजनाहरियाणा में लोकप्रिय योजनाएं:हरियाणा राशन कार्ड आवेदन फॉर्म मेरी फसल मेरी फसल राशन कार्ड सूची 2021

राज्य सरकार। दिल्ली और आसपास के क्षेत्रों जैसे फरीदाबाद, नोएडा, गुरुग्राम की लगभग 4 करोड़ आबादी के लिए पेरी-अर्बन खेती की अवधारणा पर भी विशेष ध्यान देगा। इसमें किसानों की आय बढ़ाने के लिए दूध, फल, फूल और अंडे जैसी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति शामिल है।

राज्य सरकार। कृषि नेतृत्व शिखर सम्मेलन, पशु मेले, किसान रतन पुरस्कार जैसी विभिन्न पहल की हैं जो पहले नहीं ली गई हैं। राज्य सरकार। किसानों की आय को दोगुना करने, उत्पादन लागत को कम करने और जैव उर्वरकों के उपयोग के लिए लगातार प्रयास कर रहा है।

स्रोत / संदर्भ लिंक: https://twitter.com/cmohry/status/1072376201963102209?lang=hi